Follow by Email

Tuesday, February 23, 2010

पटना "महादलित रैली"...

इस रैली से इसे क्या उम्मीद है?

जुगाड़ की राजनीति में जुगत...

"नेताजी की जिंदाबाद..."

इनका जिंदा रहना जरूरी है...




यहां भी धुमंतों, आज का डेरा...कौन जानें कब हो पटना फेरा...



एक जुटता के नाम पर दलित समाज का विखंडन





No comments: