Follow by Email

Thursday, September 16, 2010

भगवा ब्रिग्रेड पर तत्काल लगे प्रतिबंध

भगवा ब्रिग्रेड पर तत्तकाल लगे प्रतिबंध - JUCS
मध्य प्रदेश भाजपा सरकार स्थिति स्पष्ट करे - JUCS
चिदंबरम और दिगविजय सिंह भगवा ब्रिगेड पर चुप क्यों - JUCS

जर्नलिस्ट यूनियन फॉर सिविल सोसाइटी (JUCS) की मध्य प्रदेश ईकाई ने जबलपुर रेलवे स्टेशन पर ‘भगवा ब्रिगेड का हिंदू योद्धा भर्ती अभियान’ का पोस्टर पाया। यह पोस्टर पूरे मध्य प्रदेश में सार्वजनिक स्थानों पर लगा है। इस पोस्टर में हिन्दुत्वादियों द्वारा प्रस्तावित अयोध्या में राम मंदिर के ढ़ंाचे का छाया चित्र लगा है। इस पोस्टर में स्पष्ट रुप से लिखा है ‘म0 प्र0 में 10000 हिंदू योद्धा की भर्ती अभियान की शुरुआत की है हम हिंदू युवाओं से इस मिशन से जुड़ने की अपील करते हैं’ तब ऐसे में JUCS भाजपा शासित सरकार और मुख्य विपक्ष कांग्रेस की मंशा पर सवाल उठाता है।
इस पोस्टर में भगत सिंह, शिवाजी, चंद्रशेखर आजाद, भीम राव अंबेडकर समेत महान और क्रांतिकारी व्यक्तित्वों के छाया चित्र के साथ सावरकर जैसे व्यक्ति जिसने अग्रेंजों से माफी मांगी थी, के भी चित्र का इस्तेमाल करके भगवा ब्रिगेड युवाओं को अपने सांप्रदायिक एजेंडे पर भड़काना चाहता है। हिंदू योद्धा की भर्ती अभियान की बात करने वाले भगवा ब्रिगेड ने इस तथ्य को प्रमाणित कर दिया है कि हिंदू युवाओं को भड़काकर ऐसे संगठन उनका सैन्यकरण कर सांप्रदायिक और आतंकवादी देशद्रोही गतिविधियों में लिप्त करते हैं।
इस पोस्टर पर भगवा ब्रिगेड के मार्ग दर्शक दामोदर सिंह यादव और संयोजक राजेश विड़कर के छाया चित्र लगे हैं और इनका पता 752 जनता क्वाटर्स, नंदानगर इंदौर और मोबाइल नंम्बर 8120002000, 9977900001 है। ऐसे में JUCS भगवा ब्रिगेड के दोनों नेताओं समेत इस संगठन के पदाधिकारियों और सदस्यों पर देश द्रोह के तहत कार्यवायी करने और दिये हुए पते के मकान को तत्काल सीज करने की मांग करता है। ऐसे में JUCS तत्काल प्रभाव से इस भगवा ब्रिगेड के पोस्टर समेत इस संगठन पर प्रतिबंध लगाते हुए इसकी उच्च स्तरीय जांच की मांग करता है क्यों की मध्य प्रदेश से लगातार हिन्दुत्ववादियों के आतंकवादी घटनाओं में लिप्त होने के मामले पिछले दिनों आए हैं।
ऐसे दौर में जब अयोध्या मसले पर फैसला आने वाला है, तब ऐसे पोस्टरों का मध्य प्रदेश में जारी होना भाजपा सरकार की मंशा को बताता है कि वो हर हाल में देश का अमन-चैन बिगाड़ने पर उतारु है। वो अब अपने लंपट गिरोह के बजरंगियों को सड़क पर उत्पात करने के लिए छोड़नें की तैयारी में है, जैसा की उसनें 92 में यूपी में और 2002 में गुजरात में किया था। ऐसे में हम मांग करते हैं कि भाजपा सरकार इस मसले पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे।
JUCS ने मध्य प्रदेश में मुख्य विपक्ष कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि वह हिंदू वोट बैंक के खातिर इस गंभीर मसले पर शांत है। क्योंकि सांप्रदायिक तनाव में वह अपना भविष्य खोज रही है।
मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह जो संघ गिरोह के आतंक पर यूपी में आकर राजनीति करते हैं वो इस मसले पर क्यों चुप हैं?
गृह मंत्री पी चिदंबरम जो इस मसले पर काफी बोल रहे हैं उनको JUCS भगवा ब्रिगेड के इस सांप्रदायिक करतूत को बता रहा है। गृह मंत्री इस गंभीर सांप्रदायिक मसले पर अपनी स्थिति स्पष्ट करें?

द्वारा जारी-
शाहनवाज आलम, विजय प्रताप, राजीव यादव, शाह आलम, ऋषि सिंह, अवनीश राय, राघवेंद्र प्रताप सिंह, अरुण उरांव, विवके मिश्रा, देवाशीष प्रसून, अंशु माला सिंह, शालिनी बाजपेई, महेश यादव, संदीप दूबे, तारिक शफीक, नवीन कुमार, प्रबुद्ध गौतम, शिवदास, ओम नागर, हरेराम मिश्रा, मसीहुद्दीन संजरी, राकेश, रवि राव।
संपर्क - 09415254919, 09452800752,09873672153, 09015898445 -- RAJEEV YADAV, Organization Secretary, U.P,

Peoples Union for Civil Liberties (PUCL) 09452800752

Sunday, September 5, 2010

मेरे मन की बात...


वो पहले प्रेमिका थी,

फिर पत्नि बनी, फिर मां...

हर किसी के लिए एक रिश्ते के साथ

हर किसी के लिए एक नाम के साथ
हर किसी के लिए नई जिम्मेदारियों के साथ

और हर किसी के लिए करुणा के साथ।

वो अपनें लिए कभी कुछ ना करे,

करे बस औरों के लिए...

बदली जो कभी वो,

तो बनी बुरी सदा...
सब कुछ वो ही क्यों निभाऐ?
क्यों साथी ना मिले ऐसा जो उसकी समझे
और अपनी भी बतियाऐ...
कौन सुनें उसकी और किसे अपनी व्यथा बताऐ?

गर जगह दे दिल में,

तो जिंदगी में जगह क्यों ना दे पाए?

समय पर ही ध्यान दे लेवे

तो वो काहे बाहर जाए...।

क्यों फिर तिरस्कार का अपमान,

झट बौना कहलाए...

रिश्तों की झूठी शान में,

क्यों बैरी मन हो जाए...।

क्यों ना करे वो अपनें मन की...

क्यों ढ़ोए वो झूठे रिश्तों की खाली गगरी...